Speech on Republic Day in Hindi

By
Advertisement
Speech on Republic Day in Hindi : First of all, Let me wish you all  a joyful and full of enthusiasm Republic Day. On this day, as we all know, Our Constitution of India came into Power. Today, on 26Jan 1950, We got our Constitution of India. So Guys, You all know about republic day very well. In this post, I am going to provide Speech on republic day in Hindi for Students, Teachers and for all those who will   give speech on Republic Day. Let's Start Now! We'll provide you only better content so Do give a share to our work!


#Speech on Republic Day in Hindi...!

Now, I am going to share the best and updated collection of Republic day Speech, you will have never founded this collection on net. So Let me Provide now!



Republic Day Speech (150 Words)




भारत के लोगों के लिये गणतंत्र दिवस एक महत्वपूर्णं दिन है इसलिये हम इसे हर साल 26 जनवरी 1950 से मना रहे है। चलिये, इस निबंध के द्वारा हम अपने बच्चों को इससे जुड़े इतिहास के बारे में अवगत कराते है। ये बेहद आसान शब्दों में लिखा गया है जिसे बच्चे आसानी से समझ सकेंगे साथ ही अभिवाहकों को ये इंटरनेट पर विभिन्न शब्द सीमा के साथ उपलब्ध होगा।


26 जनवरी 1950, पूरा भारतवर्ष हर साल इस दिन को बड़े धूमधाम से मनाता है क्योंकि इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था। 26 जनवरी 1950 के इस खास दिन पर भारतीय संविधान ने शासकीय दस्तावेजों के रुप में भारत सरकार के 1935 के अधिनियम का स्थान ले लिया। भारत सरकार द्वारा इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया है। भारत के लोग इस महान दिन को अपने तरीके से मनाते है। इस दिन पर भारत के राष्ट्रपति के समक्ष नई दिल्ली के राजपथ (इंडिया गेट ) पर परेड का आयोजन होता है।

Republic Day Hindi Speech Images Pdf


गणतंत्र दिवस पर निबंध 3 (200 शब्द)

गणतंत्र दिवस को 26 जनवरी भी कहा जाता है जो कि हर साल मनाया जाता है ये दिन हर भारतीयों के लिये मायने रखता है क्योंकि इसी दिन भारत को एक गणतांत्रिक देश घोषित किया गया था साथ ही आजादी के लंबे संघर्ष के बाद भारतीयों को अपनी कानूनी किताब ‘संविधान’ की प्राप्ति हुई थी। 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ और इसके ढ़ाई साल बाद ये लोकतांत्रिक गणराज्य के रुप में स्थापित हुआ।
आजादी के बाद एक ड्राफ्टिंग कमेटी को 28 अगस्त 1947 की मीटिंग में भारत के स्थायी संविधान का प्रारुप तैयार करने को कहा गया। 4 नवंबर 1947 को डॉ बी.आर.अंबेडकर की अध्यक्षता में भारतीय संविधान के प्रारुप को सदन में रखा गया। इसे पूरी तरह तैयार होने में लगभग तीन साल का समय लगा और आखिरकार इंतजार की घड़ी 26 जनवरी 1950 को इसको लागू होने के साथ ही खत्म हुई। साथ ही पूर्णं स्वराज की प्रतिज्ञा का भी सम्मान हुआ।
भारत में गणतंत्र दिवस का दिन राष्ट्रीय अवकाश के रुप में मनाया जाता है जब इस महान दिन का उत्सव लोग अपने-अपने तरीके से मनाते है, जैसे- समाचार देखकर, स्कूल में भाषण के द्वारा या भारत की आजादी से संबंधित किसी प्रतियोगिता में भाग लेकर आदि। इस दिन भारतीय सरकार द्वारा नई दिल्ली के राजपथ पर बहुत बड़ा कार्यक्रम रखा जाता है, जहाँ झंडारोहड़ और राष्ट्रगान के बाद भारत के राष्ट्रपति के समक्ष इंडिया गेट पर भारतीय सेना द्वारा परेड किया जाता है।

Republic Day Speech in Hindi  (300+ Words )

Aap sabhi jante ho ki gadtantar divas 26 January ko mania jata hai. 26th January 1950 ko humare desh bharat ka savidhan lagu hua tha is din ko hum 26 january Gadtantar divas ke rup me mnate hai.Is varsh hum bharat ka 68th Gantantra Diwas mnayenge. Gantantra Diwas hum sabhi ke liye bhot hi garvpurn anam smanye hai. Hmara desh Bharat azaad hua tha 15 August, 1947 ko. Na jaane kitne veero ko apne jaan qurban karni padi humein yeh azaadi dilwane ke liye. Azaadi ke baad zaroorat thi humein, apne desh ke savidhaan ki yani ke constitution ki. Or hamare desh Bharat ka savidhaan likhe Late Dr. Bhim Rao Ambedkar ji ne. Hmara ye savidhaan astitav mein aaya 26 January, 1950 ko. Is se pehle Bharat mein Government of India Act (1935) lagu tha. To hiss liye hum har saal 26th January ko Republic Day ke roop mein manaate hn. Yeh rashtriye tyohaar hamaare desh ke liye gorav ka parteek hai. Or yeh desh bhakti ki bhawna se juda hua hai…!!

Is din waise toh National Holiday declared h, par har school, college or sarkar offices mein Republic Day ko celebrate karte hain. Poore Bharat desh me Gantantra Divas harsho ullas se manaya jata h. Tarah Tarah ke rangarang karyakarm bhi aayojitki jaati h. Saare Bhaartiya naagrik desh ke mahan veron ko shradhanjali samarpit karte hain. Iske ilaava is parade mein NCC, Scout ke cadets, Police ki tukdiyaan or school students bhi bhag lete hain. Har pardesh ki bhavya jhankiyaan dikhayi jati h.

Or sarv-shreshth jhanki ko puruskaar bhi diya jata h. Yeh rashtriya tyohaar hamare desh ke liye ek mahatavporn din hai. Bharat ke pratham rastrapti Dr. Rajendra Prasad ne sabse pehla karya kaal sambhala tha. Tabse ab tak is Bharat desh me kai neeti or kaanoon ko mahatav diya gaya jise Bharat desh ke sarvadhik naagrik apnate h. Dhanyewad..

__________________________________________________
So, Guys I have provided here you best speech on republic day. Do bookmark this page if you want more and latest speech. Liked this post? Do give a share!


0 comments:

Post a Comment